फरवरी 20, 2017

सीईओ राजेश गोपीनाथन तथा सीओओ एनजी सुब्रामनियम को टीसीएस बोर्ड पर नियुक्त किया गया

मुंबई: टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस (टीसीएस) (बीएसई: 532540, एनएसई: टीसीएस) अग्रणी आईटी सेवाएं, सलाह तथा व्यवसाय समाधान संगठन ने आज घोषणा की कि एन चंद्रशेखन के स्थान पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी का पद लेने वाले राजेश गोपीनाथन को बोर्ड में प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया है।

अमान मेहता, टीसीएस बोर्ड में स्वतंत्र निदेशक ने कहा, “एक बार पुनः टीसीएस ने इस क्षमता का प्रदर्शन किया कि यह अपनी वृक्ष से ही बढ़ सकता है। युवा राजेश की पदोन्नति के साथ टीसीएस नवीनीकृत आत्मविश्वास के साथ भविष्य में देख रही है।”

सीईओ व एमडी राजेश गोपीनाथन ने कहा, “इस महान संगठन का नेतृत्व करने के अवसर व सम्मान के लिए में टीसीएस बोर्ड व चंद्रा को धन्यवाद देना चाहता हूँ। हम आज उस बेहतरीन स्थान पर खड़े हैं जहां प्रत्येक उद्योग में प्रमुख व केन्द्र का हिस्सा बन रही है। डिजिटल युग में हमारे ग्राहकों को उनके व्यवसायों के रूपंतरण में सहायता के लिए विकास क्षमताओं, समाधानों और उत्पादों के विकास के मोड़ पर निवेश करना जारी रखेंगे। हमारा प्रतिभा आधार हमारी सबसे बड़ी ताकत है और चुस्त और उत्तरदायी संगठन के निर्माण में हम उनका समावेशन और संवर्धन करना जारी रखेंगे।”

श्री गोपीनाथन ने अपना पेशेवर कैरियर टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस के साथ 2001 में शुरु किया था। उनको फरवरी 2013 में कंपनी में मुख्य वित्तीय अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्होने 3,71,000 कर्मचारियों के साथ टीसीएस को $16.5 बिवियन की वैश्विक कंपनी बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

टीसीएस ने अपने बोर्ड में सीओओ गणपति सुब्रामनियम की कार्यकारी निदेशक के पद पर नियुक्ति की घोषणा की है।

श्री सुब्रामनियम ने कहा, “टीसीएस बोर्ड द्वारा मुझे ये अवसर दिए जाने को लेकर मैं बेहद प्रसन्न हूँ। चंद्रा द्वारा निर्मित मजबूत नींव पर निर्माण के लिए राजेश के साथ काम करने के लिए मैं उत्सुक हूँ।”

श्री सुब्रामनियम (एजीएस के नाम से लोकप्रिय) वर्तमान में टीसीएस की एक रणनीतिक व्यावसायिक इकाई टीसीएस फाइनांशियल सॉल्यूशंस के अध्यक्ष हैं। वे पिछले 34 वर्षों से टीसीएस और भारतीय आईटी उद्योग का हिस्सा रहे हैं और उनको विशेष रूप से बैंकिंग व वित्तीय सेवा क्षेत्र में वैश्विक ग्राहकों के लिए समाधान प्रदान करने में विभिन्न प्रकार की भूमिकाओं के निष्पादन का अवसर मिला है।