फरवरी 28, 2017

एलसीआईए पंच निर्णय के भुगतान पर टाटा सन्स और डोकोमो सिद्धांत रूप में सहमत हो गए

मुंबई, भारत: टाटा संस को यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि एनटीटी डोकोमो, जापान के साथ हुए विवाद को समाप्त करने की रुचि में और भारत में उचित निवेश वातावरण बनाए के व्यापक राष्ट्रीय हितों को बनाए रखने के हित में, इसने 22 जून 2016 के लंदन अंतरराष्ट्रीय पंचाट (एलसीआईए) निर्णय के अनुपालन के सक्षम करने के लिए एनटीटी डोकोमो के साथ संयुक्त दृष्टिकोण पर सहमति जताई है। अनुबंधीय प्रतिबद्धताओं के अनुपालन के टाटा समूह के भारतीय तथा अंतरराष्ट्रीय दीर्घकालीन रिकॉर्ड और नेक नीयत की भावना से टाटा संस के बोर्ड ने भारत में इस निर्णय को लागू किए जाने की अपनी आपत्तियों को वापस लेने का निर्णय लिया है।

दोनो पक्षों ने संयुक्त रूप से दिल्ली उच्च न्यायालय में यह अनुरोध किया है कि उनके निबटारे की शर्तों को स्वीकार कर लिया जाए, जो कि अदालत के ऐसे किसी आदेश से विषयित हो। यदि दिल्ली उच्च न्यायालय अनुमोदन करे तो निबटान शर्तें टाटा संस द्वारा दिल्ली उच्च न्यायालय के पास टाटा संस द्वारा पहले से जमा $1.18 बिलियन का भुगतान डोकोमो को दिया जाएगा और डोकोमो को टाटा टेलीसर्विसेस लिमिटेड में इसके शेयर का हस्तांतरण अनुमत होगा।

इस संयुक्त आवेदन के हिस्से और भारत में अंततः इस मामले के निबटने की प्रत्याशा के रूप में, डोकोमों ने निर्धारित अवधि में यूनाइटेड किंगडम और यूनाइटेड स्टेट में इससे संबंधित कार्रवाई को निरस्त करने की सहमति दी है।

पक्षों के बीच का यह अनुबंध, इस विवाद के समाधान की दिशा में एक महत्वपूर्ण चरण है औऱ टाटा संस व डोकोमो दोनो को यह आशा है कि वे इस मामले के समाधान को हासिल करने के लिए और भविष्य में आगे के सहयोग के लिए रचनात्मक रूप से साथ काम करते रहेंगे।