टाटा सन्स

टाटा सन्स मुख्य परिचालित टाटा कंपनियों के प्रमोटर हैं तथा इन कंपनियों में महत्वपूर्ण हिस्सेदारी रखते हैं। टाटा कंपनियों को आमतौर पर टाटा समूह के नाम से जाना जाता है और टाटा सन्स के अध्यक्ष टाटा समूह के अध्यक्ष भी होते हैं।

टाटा सन्स के लगभग 66 प्रतिशत इक्विटी शेयरों पर टाटा परिवार के सदस्यों द्वारा प्रदत्त धन से संचालित परोपकारी ट्रस्टों का अधिकार है। इनमें से सबसे बड़ा ट्रस्ट है सर दोराबजी टाटा ट्रस्ट और सर रतन टाटा ट्रस्ट, जिनकी स्थापना संस्थापक श्री जमशेदजी नसरवानजी टाटा के पुत्रों द्वारा की गई।

प्रोफाइल पढ़िये

साक्षात्कार और कहानियां
'मितव्ययी कार्यप्रणाली और डिजाइन एक अखिल भारतीय सांस्कृतिक लाभ है'

डॉ. गोपीचंद कटरागड्डा, समूह के मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी, टाटा सन्स, तथा नवाचार पर भारत सरकार के कार्यबल के सदस्य, बताते हैं कि किस प्रकार भारत अपने नवाचारी वातावरण को विकसित और मजबूत कर सकता है