जनवरी 17, 2018

11वें एनर्सिया (Enertia) अवार्ड्स में टाटा पावर का संयुक्त उपक्रम पावरलिंक्स ट्रांसमिशन ‘बेस्ट इन क्लास T&D इन्फ्रा एसेट’ से सम्मानित

राष्ट्रीय: भारत की सबसे बड़ी एकीकृत ऊर्जा कंपनी टाटा पावर ने आज घोषणा की कि पावरलिंक्स ट्रांसमिशन (टाटा पावर एवं पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड का संयुक्त उपक्रम) को 11वें एनर्सिया (Enertia) अवार्ड्स में ‘बेस्ट इन क्लास इन्फ्रा एसेट साउथ एशिया रीजनल ग्रिड (SARG)’ से सम्मानित किया गया। कंपनी को यह पुरस्कार धारणीय ऊर्जा, बिजली और नवीकरणीय ऊर्जाओं के क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए दिया गया।

11वें एनर्सिया (Enertia) अवार्ड्स में टाटा पावर के संयुक्त उपक्रम पावरलिंक्स ट्रांसमिशन को ‘बेस्ट इन क्लास इन्फ्रा एसेट साउथ एशियन रीजनल ग्रिड’ पुरस्कार से सम्मानित किए जाते हुए

पावरलिंक्स ट्रांसमिशन लिमिटेड (PTL) 1550MW बिजली आयात करते हैं जिसमें 1020MW ताला हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्रॉजेक्ट से प्राप्त की जाती है जो कि जलविद्युत के क्षेत्र में सार्क देशों के लिए इंजीनियरिंग और एक्सीलेंस का प्रमुखतम प्रॉजेक्ट है। PTL का गठन प. बंगाल के सिलिगुड़ी और उत्तर प्रदेश के मंडोला (नई दिल्ली के पास) के बीच 1166 किमी विद्युत पारेषण के उद्देश्य से किया गया था। यह प्रॉजेक्ट निर्धारित समय और लागत पर पूरा किया गया और यह 2006 से सफलतापूर्वक व्यावसायिक परिचालन कर रहा है।

इस उपलब्धि पर बोलते हुए टाटा पावर के एमडी और सीईओ श्री अनिल सरदाना ने कहा, ‘एनर्सिया की ओर से यह प्रतिष्ठित अवार्ड पाकर हम सम्मानित हुए। शुरुआत से ही कंपनी ने अपने परिचालनों में उच्चतम मानक अपनाने की दिशा में काम किया है। पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के साथ हमारा यह संयुक्त उद्यम भारत के पारेषण क्षेत्र में अग्रणी सार्वजनिक-निजी साझेदारी (PPP) का प्रमाण है। उत्कृष्टता की दिशा में, पारेषण लाइन के निर्बाध और सुचारु संचालन सुनिश्चित करने हेतु हम अपने प्रयास में सर्वोत्तम कार्यव्यवहार अपनाना जारी रखेंगे। ऐसे पुरस्कारों से न केवल हमारे प्रयासों को मान्यता मिलती है बल्कि हमें बेस्ट इन क्लास परिणाम देने हेतु प्रेरणा भी प्राप्त होती है।’

एनर्सिया धारणीय ऊर्जा एवं बिजली का एक इंजीनियरिंग एवं टेक्नोलॉजी स्ट्रैटजी मैनेजमेंट जर्नल है। इसे मुंबई के एक प्रमुख इनफ्रास्ट्रक्चर उपक्रम पटेल इंजीनियरिंग का सहयोग हासिल है। ‘ENERTIA अवार्ड्स’ भारत के सर्वोच्च बिजली और ऊर्जा कंपनियों को सम्मानित करते हैं और ये इस क्षेत्र में उत्कृष्टता के मानक पुरस्कार हैं। ये पुरस्कार सुपर क्रिटिकल थर्मल पावर, जलविद्युत, सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, विकेंद्रीकृत एवं वितरित विद्युत, T&D, यूटिलिटी एवं स्मार्ट ग्रिड जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में प्रदान किए जाते हैं।